Wo krishna hai

कृष्ण जन्माष्टमी – कृष्ण की खोज़ (seeking Krishna)

Posted by
Seeking Krishna - Wo Krishna hai
Jai Shri Krishna

कृष्ण जन्माष्टमी – कृष्ण की खोज़ 

 भगवान विष्णु के अनेक अवतारों में से एक अवतार – कृष्ण – एक ऐसा अवतार जो एक संपूर्णता को दर्शाता है, सभी १६ कलाओं से संपन्न एक व्यक्तित्व जिन्होने हमें जीवन का सार समझाया. उन्होने हमारा परिचय उस परम शक्ति से करवाया जिसे सामान्य लोगों ने उस युग में भी सिर्फ़ कहानियों और ग्रंथों मे पढ़ा था.

कृष्ण सिर्फ़ गीता में ही नहीं हैं, बल्कि इस समूचे संसार का आधार ही कृष्ण है. कुछ पंक्तियों से भगवान कृष्ण के अस्तित्व का एक अंश प्रस्तुत कर रहा हूँ, आशा करता हूँ कि उसे ढूँडने में आपको कुछ मदद मिलेगी…

राधा के प्रेम से

मीरा की प्रीत तक.

कौरवों की हार से,

पांडवों की जीत तक.

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

गाय के दूध से

गोपियों के रास तक.

गुरु द्रोण की शिक्षा से

महर्षि वेद व्यास तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

भीष्म की प्रतिज्ञा से

कर्ण के दान तक

अभिमन्यु के साहस से

दुर्योधन के अभिमान तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

लाक्षाग्रह की अग्नि से

अश्वथामा के छल तक

युधिष्ठिर के सत्य से

भीम के बल तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

गांधारी के त्याग से

द्रौपदी के अपमान तक

संजय की दृष्टि से

कृपाचार्य के ज्ञान तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

कर्ण के दिव्यास्त्र से

घटोत्कच्छ के वध तक

शिशुपाल के अपशब्दों पर रखे

धैर्य की अंतिम हद तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

ग्वालों के संग खेल से

महाभारत के रण तक

अश्वत्थामा की अमरता से

बर्बरिक के मरण तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

चाँद की शीतलता से

सूरज के ताप तक

दशहरे के गंगा स्नान से

गायत्री मंत्र के जाप तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

यशोदा की ममता से

देवकी की मजबूरी तक

रुक्मणी से विवाह और

राधा से हुई दूरी तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

गोकुल की कुंज गलियों से

मथुरा और वृंदावन तक

कनकी उंगली पर टिकाए

विशाल पर्वत गोवेर्धन तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

गीता के श्लोकों से

श्री एक हज़ार आठ तक

जीवन का सार बताने वाले

उस महान रूप विराट तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

 

एक माँ की हर श्वास से

कोख में कोमल कुसुम तक

हर हृदय मे वास है करता

मुझ से लेकर तुम तक

वो कृष्ण है, वो कृष्ण है

Krishna Janmashtami – Seeking Krishna

Lord Krishna – one of the many manifestations of Lord Vishnu, that shows completion. in the enrichment all powers, he enlighten us on the way of Truth and Religion. He introduced us to the Supreme Power, the very existence of or whole world.

He is not limited to only the verses of Geeta but resides in every unit of Life and Time. Just presenting now a few lines to define a part of its existence, and it may help you find him…

Radha ke Prem se,

Meera ki preet tak.

Kauravon ki haar se,

Paandavon ki jeet tak.

Wo Krishna hai, Wo Krishna hai,

Gaay ke doodh se

Gopiyon ke raas tak.

Guru Dron ki shiksha se

Maharshi Ved Vyas tak

Wo Krishna hai, Wo Krishna hai,

Bheeshm ki pratigya se

Karna Ke daan tak

Abhimanyu ke sahas se

Duryodhan ke abhiman tak

Wo Krishna hai, Wo Krishna hai,

Lakshagrah ki agni se

Ashwathhama ki chhal tak

Yudhishthir ke satya se

Bheem ke bal tak

Wo Krishna hai, Wo Krishna hai,

Gaandhari ke tyag se

Draupadi ke apmaan tak

Sanjay ki drishti se

Kripacharya ke gyan tak

Wo Krishn hai, Wo Krishn hai,

Karna ke divyastra se

Ghatotkachh ke vadh tak

Shishupal ke apshabdon par rakhe

Dhairya ki antim hadd tak

Wo Krishn hai, Wo Krishn hai,

Gwalon ke sang khel se

Mahabharat ke rann tak

Ashwatthama ki amarta se

Barbarik ke maran tak

Wo Krishn hai, Wo Krishn hai,

Chand ki shitalta se

Sooraj ke taap tak

Dashahre ke ganga snan se

Gayatri mantra ke jaap tak

Wo Krishn hai, Wo Krishn hai,

Yashoda ki mamta se

Devki ki majboori tak

Rukmani se vivah aur

Radha se hui doori tak

Wo Krishna hai, Wo Krishna hai,

Gokul ki kunj galiyon se

Mathura aur vrindavan tak

Kanki ungali par tikaye

Vishal parvat Goverdhan tak

Wo Krishna hai, Wo Krishna hai,

Geeta ke shloko se

Shri ek hazar aath tak

Jeevan ka saar batane wale

Us mahan Roop Virat tak

Wo Krishn hai, Wo Krishn hai,

Ek maa ki har shwas se

Kokh me komal kusum tak

Har hriday me vaas hai karta

Mujh se lekar Tum tak

Wo Krishna hai

 

 

No matter what, Crisp Wire will always bring the correct perspective and reports for you.

 

Read some other articles and it might change your perspective :

Encounter Of Vikas Dubey

Pilot Vs Gehlot in Rajasthan

A Long Walk In Lockdown

A Suicide Note

5 Ways To Identify Toxic Friends

Do We Understand Private Schools?

Please follow and share us:

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *